17.1 C
Delhi
Friday, February 3, 2023

भारत ने गोवा में बैठक के लिए पाकिस्तान, चीन समेत एससीओ के देशों के विदेश मंत्रियों को आमंत्रण भेजा

Must read


एससीओ की आखिरी बैठक उज्बेकिस्तान के समरकंद में हुई थी. पीएम नरेंद्र मोदी इस बैठक में हिस्सा लेने पहुंचे थे.

नई दिल्ली:

भारत ने पाकिस्तान के बिलावल भुट्टो जरदारी और चीन के किन गैंग समेत शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) के सदस्य देशों के विदेश मंत्रियों को मई में होने वाली उच्च स्तरीय बैठक के लिए आमंत्रित किया है. सूत्रों ने बुधवार को यह जानकारी दी. एससीओ की आखिरी बैठक उज्बेकिस्तान के समरकंद में हुई थी. पीएम नरेंद्र मोदी इस बैठक में हिस्सा लेने पहुंचे थे. 

यह भी पढ़ें


एससीओ के विदेश मंत्रियों की बैठक मई के पहले सप्ताह में गोवा में होने की संभावना है. सूत्रों ने कहा कि भुट्टो जरदारी को आमंत्रण इस्लामाबाद में भारतीय उच्चायोग द्वारा दिया गया. यह पता चला है कि मार्च में भारत द्वारा आयोजित की जाने वाली एससीओ देशों के प्रधान न्यायाधीशों की बैठक के लिए पाकिस्तानी प्रधान न्यायाधीश के कार्यालय को भी आमंत्रित किया गया है.

भारत आठ देशों वाले एससीओ का वर्तमान में अध्यक्ष है. भुट्टो जरदारी बैठक में शामिल होंगे या नहीं इस बारे में अभी कोई संकेत नहीं मिला है. सूत्रों ने कहा कि आमंत्रण निर्धारित प्रक्रिया के तहत भेजे गए थे. यदि आमंत्रण स्वीकार किया जाता है, तो 2011 में हिना रब्बानी खार के बाद से किसी पाकिस्तानी विदेश मंत्री की यह पहली भारत यात्रा होगी. खार वर्तमान में विदेश राज्य मंत्री हैं.

भुट्टो जरदारी को आमंत्रण पाकिस्तानी प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ द्वारा भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय वार्ता की पेशकश के कुछ दिनों बाद भेजा गया था. शरीफ ने संयुक्त अरब अमीरात के अल अरबिया न्यूज चैनल से साक्षात्कार में इसका प्रस्ताव दिया था. हालांकि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री कार्यालय ने बाद में कहा कि कश्मीर पर 2019 की कार्रवाई को पलटे जाने तक भारत से बातचीत संभव नहीं है.

मई 2014 में, तत्कालीन पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में भाग लेने के लिए भारत का दौरा किया. दिसंबर 2015 में, तत्कालीन विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने पाकिस्तान का दौरा किया और कुछ दिनों बाद, मोदी ने पड़ोसी देश का संक्षिप्त दौरा किया.

जून 2001 में शंघाई में स्थापित एससीओ के आठ पूर्ण सदस्य हैं, जिनमें इसके छह संस्थापक सदस्य, चीन, कजाकिस्तान, किर्गिस्तान, रूस, ताजिकिस्तान और उज्बेकिस्तान शामिल हैं. भारत और पाकिस्तान 2017 में पूर्ण सदस्य के रूप में शामिल हुए.

 

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Featured Video Of The Day

क्या NARCO को दिया जा सकता है चकमा ? जानें – क्यों उठ रहा है ये सवाल



Source link

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article