12.1 C
Delhi
Thursday, January 26, 2023

गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर सीबीआई के 30 अधिकारियों को पुलिस पदक

Must read



सरकार ने एक बयान में कहा कि सीबीआई के छह अधिकारियों को विशिष्ट सेवा के लिए राष्ट्रपति पुलिस पदक (पीपीएमडीएस) से सम्मानित किया गया, जबकि 24 को सराहनीय सेवा के लिए पुलिस पदक (पीएमएमएस) से नवाज़ा गया है. 

बयान में कहा गया है कि भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) के 1997 बैच के अधिकारी एवं एजेंसी में संयुक्त निदेशक विप्लव कुमार चौधरी को पीपीएमडीएस से नवाज़ा गया है.  वह बाल यौन उत्पीड़न सामग्री की ऑनलाइन बिक्री और प्रयागराज में अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की मौत समेत अन्य मामलों की जांच की निगरानी कर रहे थे. 

बयान के मुताबिक, एजेंसी में अन्य संयुक्त निदेशक शरद अग्रवाल (1997 बैच) को भी पीपीएमडीएस से सम्मानित किया गया है. उन्होंने गुरुग्राम के एक स्कूल में दूसरी कक्षा के छात्र की हत्या, झारखंड के न्यायाधीश उत्तम आनंद की कथित हत्या और राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के प्रमुख लालू प्रसाद से जुड़े कथित भ्रष्टाचार के मामलों की जांच की निगरानी की थी.

बयान के अनुसार भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण से जुड़े भ्रष्टाचार के मामलों, अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर सौदे में भ्रष्टाचार, विजय माल्या के मामलों और इलाहाबाद उच्च न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश न्यायमूर्ति एस एन शुक्ला के कथित भ्रष्टाचार के मामलों की जांच की निगरानी करने वाले उपमहानिरीक्षक (आईपीएस 2004 बैच) गगनदीप गंभीर को पीएमएमएस से सम्मानित किया गया है.

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सत्य नारायण जाट और थांगलियान मांग एम तथा हेड कांस्टेबल अडू राम और गौतम चंद्र दास को भी पीपीएमडीएस से सम्मानित किया गया है.

पुलिस अधीक्षक प्रवीण मंडलोई, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कौशल किशोर सिंह, पुलिस उपाधीक्षक जगरूप सिंह, डार्विन केजे, विकास चंद्र चौरसिया, जावेद अख्तर अली, कुमार अभिषेक, मनोज कुमार, गिरीश सोनी, जगदेव सिंह यादव और मुकेश कुमार को पीएमएमएस से नवाज़ा गया है. 

निरीक्षक तेजवीर सिंह, मुन्ना कुमार सिंह व गणेश शंकर, हेड कांस्टेबल जाहर लाल नायक, ई वर्गीज पॉलोज, जगदीश चौधरी, बिजॉय बरुआ तथा देबदत्त मुखर्जी, कांस्टेबल सतीश कुमार एवं अधिकारी अधीक्षक अनूप मैथ्यूज, आशुलिपिक खोकन भट्टाचार्जी और वरिष्ठ लोक अभियोजक राज मोहन चंद को पीएमएमएस दिया गया है. 

यह भी पढ़ें –

जामिया में BBC डॉक्यूमेंट्री की स्क्रीनिंग के ऐलान के बाद 10 छात्र हिरासत में लिए गए

राणा अय्यूब को फिलहाल राहत, SC ने गाजियाबाद कोर्ट से सुनवाई टालने का आग्रह किया

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Featured Video Of The Day

लद्दाख के विवादित इलाकों में भारत ने नहीं खोई जमीन : सेना



Source link

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article