सिंगापुर के विशेषज्ञों ने कहा, भारत से लौटे यात्रियों को 14 दिन के बजाए 21 दिन तक पृथक-वास में रहना होगा

2


कोरोना: सिंगापुर के विशेषज्ञों ने कहा, भारत से लौटे यात्रियों को 14 दिन के बजाए 21 दिन तक पृथक-वास में रखना होगा.

नई दिल्ली:

सिंगापुर के विशेषज्ञों ने कहा है कि सार्स-सीओवी-2 के दो बार रूप परिवर्तित कर चुके नये स्वरूप के खिलाफ देश की सुरक्षा को मजबूत करने के लिए भारत से लौटे प्रत्येक व्यक्ति को 14 दिन के बजाय 21 दिन तक पृथक-वास में रखना होगा. ‘द स्ट्रेट्स टाइम्स’ ने बृहस्पतिवार को यह खबर दी. हालांकि, इसमें कहा गया कि भारत से आने वाले विमानों पर रोक लगाने की जरूरत नहीं है.

एनयूएस सॉ स्वी स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ में वैश्विक स्वास्थ्य के उपाध्यक्ष एसोसिएट प्रोफेसर सू ली यांग ने कहा, ‘‘14 दिन का पृथक-वास या घर पर ही रहने के नोटिस (एसएचएन) से 98 प्रतिशत से अधिक कोविड-19 के मामलों का पता लगाने में मदद मिलेगी, जिनमें वे लोग भी शामिल हैं जो उड़ान के दौरान संक्रमित हुए हैं.”

यांग ने कहा, “21 दिन के पृथक-वास और कुछ खास जांचों से लगभग सभी मामलों का पता चल जाएगा. हालांकि यात्री को इसकी काफी मानसिक एवं आर्थिक कीमत चुकानी पड़ेगी.”

सिंगापुर ने मंगलवार को नये सुरक्षा उपायों की घोषणा की, जिनमें भारत से लौटने वाले अस्थायी निवासियों के लिए कम से कम मंजूरियां देना भी शामिल है.

विशेषज्ञों ने कहा कि भारत से लौटने वाले सभी यात्रियों को किसी केंद्र पर 14 दिन पृथक-वास में रहने के बाद अपने आवास पर सात दिन के लिए खुद को पृथक रखना होगा.

ये नये उपाय स्थानीय तौर पर संक्रमण के मामलों के हाल में बढ़ जाने के बीच आए हैं और इनमें से तीन लोगों के संक्रमित होने के पीछे 43 साल के एक भारतीय नागरिक से संपर्क में आने को कारण माना जा रहा है जो संभवत: भारत में दोबारा संक्रमित हो गया था.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Source link

  •  
  •  
  •  
  •  
  •