लॉकडाउन ठीक है, लेकिन महाराष्ट्र सरकार को गरीबों की मदद करनी चाहिए : देवेंद्र फडणवीस

2


महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता देवेंद्र फडणवीस (फाइल फोटो)

मुंबई:

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता देवेंद्र फडणवीस ने रविवार को राज्य के लोगों से कोविड-19 के मामलों के प्रसार को रोकने के लिए राज्य सरकार द्वारा घोषित प्रतिबंधों और सप्ताहांत लॉकडाउन का पालन करने की अपील की. विधानसभा में विपक्ष के नेता ने यह भी कहा कि सरकार को प्रतिबंधों के बाद गरीबों और मध्यम वर्ग के लोगों को वित्तीय सहायता प्रदान करने पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने बिजली बिलों के भुगतान में विफल रहने वाले लोगों से 5,000 करोड़ रुपये का बकाया वसूला था. भाजपा नेता ने संवाददाताओं से कहा, “सरकार को अभी इसे (बकाया राशि वसूलना) नहीं करना चाहिए.” उल्लेखनीय है कि राज्य सरकार ने रविवार को राज्य में शुक्रवार को रात आठ बजे से सोमवार को सुबह सात बजे तक सप्ताहांत लॉकडाउन की घोषणा की.

यह भी पढ़ें

महाराष्ट्र में कोरोना की नई गाइडलाइन :जानिए क्या खुला-क्या बंद, टैक्सी-बस के लिए भी नई शर्तें

सप्ताहांत लॉकडाउन के अलावा, सोमवार रात आठ बजे से सख्त प्रतिबंध लागू होंगे, जिसके तहत शॉपिंग मॉल, बार, रेस्तरां, छोटी दुकानें केवल सामान पैक कराने और पार्सल के लिए खुली रहेंगी. सरकारी कार्यालयों को अपनी क्षमता के 50 प्रतिशत पर ही कार्य करने की अनुमति होगी. फडणवीस ने कहा, “लॉकडाउन या आंशिक लॉकडाउन ठीक है. हम सरकार का समर्थन करेंगे, लेकिन सरकार को गरीबों और मध्यम वर्ग को वित्तीय सहायता देने पर भी ध्यान देना चाहिए.” विशेषज्ञों का हवाला देते हुए, फडणवीस ने कहा कि कोरोना वायरस का एक नया और अधिक संक्रामक स्वरूप रोगियों के फेफड़ों को तेजी से प्रभावित करता है. उन्होंने कहा कि लोगों के बीच वायरस के नए स्वरूप के बारे में जागरूकता पैदा की जानी चाहिए.

Video: सिटी एक्सप्रेस: महाराष्ट्र में कोरोना के मामलों में बड़ा उछाल, 57 हजार से ज्यादा नए केस आए

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Source link

  •  
  •  
  •  
  •  
  •