इजराइल के प्रधानमंत्री नफ्ताली बेनेट.

यरुशलम:

इजराइल के प्रधानमंत्री नफ्ताली बेनेट ने ओमान तट के पास इजराइल द्वारा संचालित एक तेल टैंकर पर हुए ड्रोन हमले के लिए रविवार को ईरान को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि उसने ‘गंभीर भूल’ की है. हालांकि, ईरान ने इस हमले से इनकार किया है. इस हमले में चालक दल के दो सदस्य मारे गये थे. ईरान ने गुरुवार रात तेल टैंकर मर्सर स्ट्रीट पर हुए हमले में अपनी संलिप्तता से इनकार किया है लेकिन बेनेट ने परोक्ष रुप से ईरान को धमकी दी है. इस क्षेत्र में वाणज्यिक जहाजों पर हमलों में विराम के कुछ वर्षों बाद यह पहला घातक हमला है. इसे परमाणु समझौते को लेकर ईरान के साथ तनाव से जोड़कर देखा जा रहा है. किसी ने भी इस हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है. हालांकि, इजराइल ने आरोप लगाया है कि ईरान ने यह हमला किया है.

यह भी पढ़ें

बेनेट ने मंत्रिमंडल की साप्ताहिक बैठक में कहा, ‘‘ईरान ने यह कायराना हरकत की है और अब अपनी जिम्मेदारी से बचने का प्रयास कर रहा है. वे इससे इनकार कर रहे हैं. अब मैं पूरे भरोसे के साथ कह सकता हूं कि ईरान ने ही जहाज पर हमला किया. खुफिया एजेंसियों को ईरान की संलिप्तता के सबूत मिले हैं और हमें उम्मीद है कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय ईरानी शासन को स्पष्ट तौर पर बताएगा कि उसने गंभीर भूल की है. किसी भी स्थिति में हमें पता है कि ईरान को किस तरह जवाब देना है.”

चीन ने न्यूक्लियर डील पर ईरान का किया समर्थन, मिडिल-ईस्ट के लिए नया मंच बनाने का आह्वान

ईरान ने आरोपों से इनकार किया है. ईरान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता सईद खातिबजाहेद ने कहा, ‘‘ऐसे आरोप-प्रत्यारोप नए नहीं हैं. इस हमले के लिए वे लोग जिम्मेदार हैं जिन्होंने इस क्षेत्र में इजराइली शासन को अपने पैर जमाने दिए. इसमें कुछ नया नहीं है कि अमेरिका में जानी पहचानी ईरान विरोधी लॉबी इस्लामिक देश के खिलाफ आरोप लगाने के किसी भी अवसर का इस्तेमाल करती है.”

अमेरिका का परमाणु ऊर्जा चालित विमानवाहक पोत यूएसएस रोनाल्ड रीगन और निर्देशित मिसाइल विध्वंसक यूएसएस मित्स्चर, मर्सर स्ट्रीट को सुरक्षित बंदरगाह तक लेकर गये. मर्सर स्ट्रीट का प्रबंधन लंदन की जोडियाक मैरीटाइम कंपनी करती है और यह इजराइली अरबपति इयाल ओफेर के जोडियाक समूह का हिस्सा है. कंपनी ने कहा कि हमले में उसके चालक दल के दो सदस्यों की मौत हो गयी. एक सदस्य ब्रिटेन तथा दूसरा रोमानिया का था.

इजराइल के विदेश मंत्री याइर लापिद ने हमले के समन्वित जवाब के लिए पिछले तीन दिनों में अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन तथा ब्रिटेन और रोमानिया के अपने समकक्षों से बातचीत की. ब्लिंकन और लापिद ‘‘तथ्यों की जांच करने, सहयोग करने और अगले कदमों पर विचार करने के लिए” अन्य सहयोगियों के साथ काम करने को लेकर सहमत हुए.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here