गर्मियां आ गई, सत्तू घर आया कि नहीं! जानें सत्तू के फायदे

1


सत्तू के स्वास्थ्य लाभ: सत्तू को ऊर्जा के पावरहाउस के रूप में भी माना जाता है.

Benefits of Sattu: गर्मियों का मौसम आते ही कुछ चीजें रसोई में आने को बेताब हो उठती हैं. ठीक वैसे ही कुछ चीजों को लाने के लिए आप बेचैन रहते हैं. इन्हीं में से एक है सत्तू. अरे भई ऐसा कौन है, जो इस मौसम में ठंडा-ठंडा सत्तू न पीना चाहे. मेरे हिसाब से तो कोई नहीं होगा… लेकिन फिर भी अपवाद तो होते ही हैं न… खैर, सत्तू के लिए मेरा और इसे पसंद करने वाले और लोगों का दीवानापन यूं ही नहीं है. इसके पीछे है इसका स्वाद और हां इसके लाभ… सत्तू एक ओर जहां गर्मियों में बेहतरीन ड्रिंक होता है वहीं यह इस मौसम के कहर से भी बचाता है, तो चलिए बिना देर करे जानते हैं इसके फायदों के बारे में… 


सत्तू के स्वास्थ्य लाभ

यह भी पढ़ें

1. सत्तू प्रोटीन (Protein) का एक अच्छा स्रोत है. सत्तू को भुने हुए चना से बनाया जाता है. सत्तू को ऊर्जा के पावरहाउस के रूप में भी माना जाता है, इसे आसानी से घर पर बनाया जा सकता है. 

2. गर्मी आपको ऊर्जा की कमी महसूस करा सकती है और आपको बेचैन और थका हुआ महसूस कराती है. ऐस में गर्मी से निजात पाने और एनर्जी के लिए सत्तू का इस्तेमाल करें. यह प्रोटीन की पूर्ती के साथ ही साथ स्वादिष्ट भी लगेगा.

3. सत्तू के फायदे बहुत ज्यादा हैं. यह पेट फूलना, कब्ज और एसिडिटी और अपच जैसी समस्याओं के लिए भी फायदेमंद माना जाता है.

4. सत्तू प्रोटीन ही नहीं कैल्शियम, कार्बोहाइड्रेट से भी भरपूर है. इतना ही नहीं यह आयरन से भी भरपूर होता है, जो ब्लड सर्कुलेशन में मदद करता है और सूजन को कम कर सकता है.

5. सत्तू एक लो-ग्लाइसेमिक इंडेक्स वाली ड्रिंक है जो डायबिटीज रोगियों के लिए काफी फायदेमंद मानी जाती है।

घर पर कैसे बनाएं सत्तू | घर पर सत्तू बनाने की आसान विधि

सामग्री 

बस और बस चने

सत्तू बनाने की विधि‍ 

अब सामग्री देखकर तो आपको अंदाजा हो ही गया होगा कि इसे बनाने में कोई मंत्र नहीं पढ़ने होंगे न ही ये बहुत कठ‍िन होगा. अब जो चीज बने ही किसी एक सामग्री पर उसमें क्या ही मेहनत लगेगी. तो चलिए फटाफट जान लेते हैं कि चने से सत्तू कैसे बनता है. तो सबसे पहले आपको चने को कड़ाही में भून लेने हैं. या आप चाहें तो भुना हुआ चना खरीद भी सकते हैं. अगर आप इसे घर पर भून रहे हैं, तो इसे ठंडा होने दें. फिर एक ग्राइंडर में पाउडर, और सत्तू तैयार है. भुने हुए चनों के गोले या भूसी को आप निकाल भी सकते हैं और नहीं भी. आपको विभिन्न प्रकार के अनाज – गेहूं, चना, जौ और शर्बत या ज्वार के साथ सत्तू मिलता है. सत्तू बिहार, झारखंड, यूपी और कोलकाता जैसे राज्यों में एक मुख्य ड्रिंक है.



Source link

  •  
  •  
  •  
  •  
  •