इंदौर और मंदसौर में मृत कौवों में H5N8 वायरस पाए जाने के बाद MP में बर्ड फ्लू का अलर्ट जारी किया गया

6


मध्य प्रदेश में बर्ड फ्लू का अलर्ट जारी किया गया है,

भोपाल:

मध्य प्रदेश में बर्ड फ्लू का अलर्ट जारी किया गया है, राज्य की आर्थिक राजधानी इंदौर सहित पश्चिम एमपी के कुछ हिस्सों में बड़ी संख्या में कौवे की अचानक मौत हो गई. नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हाई सिक्योरिटी एनिमल डिसीज (NIHSAD) में मृत कौवे के नमूनों के परीक्षण में इंदौर और मंदसौर के कुछ नमूनों में H5N8 (एवन इन्फ्लुएंजा) की मौजूदगी का पता चला है.

मध्यप्रदेश पशुपालन विभाग के सूत्रों के अनुसार, इंदौर में 142, मंदसौर में 100, आगर-मालवा में 112, खरगोन में 13 और सीहोर जिले में 9 सहित 376 कौओं की अचानक मौत हुई है.

यह भी पढ़ें

पशु चिकित्सा विभाग के उप संचालक प्रमोद शर्मा ने मंगलवार को बताया, “पिछले आठ दिन के दौरान हमें रेसीडेंसी क्षेत्र के आस-पास कुल 155 कौए मरे मिले हैं. हमें लगता है कि इनकी मौत भी बर्ड फ्लू के एच5एन8 वायरस से हुई है क्योंकि इस इलाके के मरे कौओं में इस बीमारी की पुष्टि पहले ही हो चुकी है.” शर्मा ने बताया कि शहर के अलग-अलग इलाकों से 120 जीवित मुर्गे-मुर्गियों और सिरपुर तालाब क्षेत्र के 30 प्रवासी पक्षियों की बीट के नमूने लेकर इन्हें बर्ड फ्लू की जांच के लिए भोपाल की एक प्रयोगशाला में भेजा गया है. इनकी जांच रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है.

उन्होंने बताया, “शहर में अब तक कौओं के अलावा किसी भी अन्य प्रजाति के पक्षी में बर्ड फ्लू के एच5एन8 वायरस का संक्रमण नहीं मिला है.” शर्मा ने बताया कि शहर में बर्ड फ्लू की आहट 29 दिसंबर को सुनाई पड़ी थी, जब रेसीडेंसी क्षेत्र के डेली कॉलेज परिसर में करीब 50 कौए मृत पाए गए थे. उन्होंने बताया कि पशु चिकित्सा विभाग ने इनमें से दो कौओं के शव परीक्षण (ऑटोप्सी) के दौरान नमूने लेकर भोपाल की एक प्रयोगशाला में इनकी जांच कराई, तो इनमें बर्ड फ्लू फैलाने वाले वायरस एच5एन8 की पुष्टि हुई थी. इस बीच, स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि रेसीडेंसी क्षेत्र के पांच किलोमीटर के दायरे में सर्दी, खांसी और बुखार के लक्षणों वाले मरीजों को खोजने के लिए सर्वेक्षण जारी है. लेकिन अब तक किसी भी मनुष्य में बर्ड फ्लू के एच5एन8 वायरस का संक्रमण नहीं मिला है.

Newsbeep

(इनपुट भाषा से भी)



Source link

  •  
  •  
  •  
  •  
  •